कान की सबसे छोटी मशीन के पक्ष और विपक्ष

कान की सबसे छोटी मशीन या आईआईसी (Invisible In Canal or IIC Hearing Aid) कान में लगाने की मशीन है जो दिखाई नहीं देती है या दूसरों के लिए अदृश्य हैं। छोटी कान की मशीन कान की बाह्य नलिका में सरका कर अंदर गहराई पर लगाई जाती है जिससे की इसका अग्रभाग (टिप) कान के पर्दे के करीब पहुंचता है।

लेकिन क्या सभी कान की मशीनें जो दिखाई नहीं देतीं उन्हें अदृश्य कहा जा सकता है? तकनीकी रूप से यह पूरी तरह सच नहीं है। कुछ छोटी कान की मशीन जैसे आईटीसी (ITC) और सीआईसी (CIC) भी कान की नलिका में गहराई पर फिट होती हैं और इन पर शायद ही किसी का ध्यान जाता हो, लेकिन वे ” नलिका में अदृश्य” या आईआईसी (IIC) कान की मशीन नहीं कहलाती हैं।

तो आइए हम आपको इस आलेख के माध्यम से कान की सबसे छोटी मशीन या नलिका में अदृश्य कान की मशीन से अवगत कराते हैं।

कान की सबसे छोटी मशीन या IIC वास्तव में क्या है?

आईआईसी (IIC) की शैली सीआईसी (CIC) से छोटी होती है। कान की बाह्य नलिका या श्रवण नलिका बिल्कुल सीधी नहीं होती है, इसमें दो मोड़ आते हैं। IIC या नलिका में अदृश्य कान की मशीन को कान की बाह्य नलिका के दूसरे मोड़ के परे अंदर गहराई पर डाला जाता है। तुलनात्मक रूप से एक आईटीसी या सीआईसी कान की मशीन कान की नलिका के बाहरी हिस्से में या कान नलिका के दूसरे मोड़ से पहले फिट होती है।

अपने छोटे आकार के कारण आईटीसी या सीआईसी पर सामान्यतः ध्यान नहीं जाता है या ये लगभग अदृश्य ही होती हैं, मगर ये कान की सबसे छोटी मशीन आईआईसी से थोड़ी बडी होती हैं।

कान की सबसे छोटी मशीन की विभिन्न शैलियों blog image
कान की सबसे छोटी मशीन की विभिन्न शैलियों

आईटीसी या सीआईसी के मामले में, फेसप्लेट या सामने की प्लेट दिखाई देती है। कुछ निर्माता आईटीसी और सीआईसी कान की मशीनों की फेसप्लेट पर एक छोटे वॉल्यूम कंट्रोल (ध्वनि के स्तर का नियंत्रण) और एक प्रोग्राम चेंज बटन (संयोजन बदलने का बटन) की तरह नियंत्रण प्रदान करते हैं।

सीआईसी के मामले में, फेसप्लेट पर किसी भी प्रकार के नियंत्रण का बटन नहीं होता हैं। इसकी छोटी फेसप्लेट में सिर्फ बैटरी के लिए एक खंड होता है। यह बैटरी खंड फेसप्लेट पर किसी भी नियंत्रण के लिए जगह नहीं छोड़ता है । उपयोगकर्ता भी नियंत्रण को सक्रिय नहीं कर सकता है, केवल हमारी छोटी उंगली के माध्यम से मशीन को छुआ जा सकता है ।

निर्माता कान की सबसे छोटी मशीन को बाहर खींचने के लिए उससे जुड़ा एक नायलॉन का धागा प्रदान करते हैं। मशीन को साफ करने, बैटरी बदलने, आवश्यकता न होने पर बंद करने के लिए खींच कर निकाला जा सकता है।

अदृश्य श्रवण प्रवर्धक प्रौद्योगिकी

नए मॉडल बनाते समय कान की मशीन के निर्माताओं के सामने 2 चुनौतियां रहती हैं।

1. कान की मशीन को आकार में छोटा बनाना
2. ध्वनि की गुणवत्ता और सुविधाओं में सुधार

डिजिटल इलेक्ट्रॉनिक्स के क्षेत्र में प्रगति दोनों ही मानदंडों को हासिल करने में मदद कर रही है। अदृश्य श्रवण प्रवर्धक तकनीक ने कान की मशीनों को लगभग अदृश्य बना दिया है। हर नए उत्पाद के बाज़ार में आने के साथ, निर्माता अदृश्य कान की मशीन या आईआईसी के आकार को कम करने में सफल रहे हैं। अब इसे कान की सबसे छोटी मशीन भी कहा जाता है। ध्वनि की गुणवत्ता में सुधार और ब्लूटूथ कनेक्टिविटी व रिमोट कंट्रोल जैसी उपयोगी सुविधाएँ एक मानक प्रावधान बन रही हैं।

कान की सबसे छोटी मशीन के लाभ

कान की सबसे छोटी मशीन की एक जोड़ी blog image
कान की सबसे छोटी मशीन की एक जोड़ी

कान की सबसे छोटी मशीन या IIC खरीदने से पहले आप को कुछ महत्वपूर्ण बातें जान लेनी चाहिए जिससे आप सोच-विचार करके निर्णय ले सकेंगे।

  • कान की बाह्य नलिका में अदृश्य कान की मशीन (आईआईसी) का सबसे महत्वपूर्ण लाभ इसका छोटा आकार है। अन्य कान की मशीनें प्रत्यक्ष रूप से दिखाई देती हैं जिसके कारण कुछ लोग इनका उपयोग करने से हिचकिचाते हैं। ये लोग अब आराम से आईआईसी श्रवण यंत्र का उपयोग कर सकते हैं। चूंकि यह कान की मशीन कान की नलिका के दूसरे मोड़ के बाद लगाई जाती है, इसलिए यह दिखाई नहीं देता है।
  • कोई बाहरी तार या ट्यूब नहीं हैं। बैटरी के साथ पूर्ण मशीन कान की नहर नलिका में फिट होती है।
  • IIC कान की मशीन छोटी और हल्की होती है। यह उपयोगकर्ता के लिए बहुत सहज व सरल साबित होती है और वह नियमित रूप से इस उपकरण का उपयोग करते हैं।
  • चूंकि IIC कान की मशीन कान नलिका की गहराई में फिट होती है, इसलिए इसके माइक्रोफोन द्वारा पकड़ी गयी ध्वनि अधिक स्पष्ट होती है। माइक्रोफोन हवा के शोर और अन्य अवांछित आवाज़ों को नहीं पकड़ता है।
  • उपयोगकर्ता सामान्य तरीके से कान के पास टेलीफोन का ईयरपीस (दूरभाष यंत्र का कान के पास रहने वाला भाग) रखकर बोल सकते है या हेडफ़ोन का उपयोग कर सकता है।
  • स्वयं कान की समस्या से पीड़ित डॉक्टर भी कान की सबसे छोटी मशीन की वजह से स्टेथोस्कोप का उपयोग कर पाते हैं। अगर कान की मशीन को कान की नहर के बाहरी भाग में फिट किया जाए तो यह संभव नहीं है।
  • चूंकि कान की सबसे छोटी मशीन का रिसीवर (स्पीकर) कान के पर्दे के करीब रहता है, इसलिए इसे प्रवर्धन के लिए कम शक्ति की आवश्यकता होती है। इससे ध्वनि विकृत्ति कम होती है और भाषण स्पष्ट होता है।
  • सबसे आधुनिक मॉडल में ब्लूटूथ कनेक्टिविटी, रिमोट कंट्रोल, मल्टी प्रोग्राम (बहु संयोजन) और फोन के लिए ईयर टू ईयर स्ट्रीमिंग (एक कान से दूसरे कान पर हस्तांतरण) जैसी सुविधाएं उपलब्ध हैं।

कान की सबसे छोटी मशीन के नुकसान

कान नहर में लगाई कान की सबसे छोटी मशीन blog image
कान नहर में लगाई कान की सबसे छोटी मशीन
  • IIC बहुत संकीर्ण कान नलिका वाले लोगों के उपयुक्त नहीं है। ध्वस्त हो चुकी या विकृत नलिका वाले लोग कान की सबसे छोटी मशीन का उपयोग नहीं कर सकते हैं।
  • आईआईसी गहन बहरेपन (Profound hearing loss) से पीड़ित लोगों के लिए उपयुक्त नहीं है। एम्पलीफायर घटकों के छोटे आकार के कारण, इस कान की मशीन में बीटीई की तुलना में प्रवर्धन कम है। नई अदृश्य कान की मशीनें गंभीर श्रेणी (Severe Hearing loss) की श्रवण हानि के लिए उपलब्ध हैं।
  • बैटरी अपने छोटे आकार के कारण कम समय तक चलती है। उपयोगकर्ता को बैटरी को अक्सर बदलना पड़ता है। अगर बैटरी की लागत सस्ती है या अगर निर्माता रिचार्जेबल (पुनः इस्तेमाल की जाने वाली) बैटरी प्रदान करता है तो ऐसे में कुछ खास नुकसान नहीं है।
  • चूंकि कान की सबसे छोटी मशीन कान के पर्दे के काफी करीब होती है, इसलिए कान का मैल जमने से मशीन के ध्वनि उत्पादन में रुकावट हो सकती है। कुछ लोग अधिक कर्णमल का स्राव करते हैं, उन के लिए अपनी कान की मशीन का नियमित रखरखाव आवश्यक है। जिन लोगों में अत्यधिक मात्रा में कान का मैल उत्सर्जित होता है उन्हें IIC अर्थात नहर में अदृश्य कान की मशीन खरीदने से पहले इस पहलू से अवगत होना आवश्यक है।
  • कान में रिसाव होने पर नलिका में अदृश्य या किसी भी प्रकार की कान के अंदरकी मशीन का उपयोग करना उचित नहीं है। यह कान की मशीन में रिस जाएगा और इलेक्ट्रॉनिक भागों को नुकसान पहुंचाएगा। इन मामलों के लिए, BTE शैली की कान की मशीन सबसे अच्छा विकल्प है।
  • फटे हुए कान के पर्दे या बार-बार होने वाले कान में संक्रमण से पीड़ित लोगों को कान की सबसे छोटी मशीन का उपयोग करने से बचना चाहिए। निर्णय लेने से पहले अपने ऑडियोलॉजिस्ट (Audiologist) से परामर्श करना उचित है।
  • कुछ उपयोगकर्ताओं को कान में अवरोधन या गूंज सी महसूस हो सकती है। आईआईसी कान की मशीन के छोटे आकार के कारण वेंटिंग (Venting) अर्थात दबाव कम करना संभव नहीं है। वेंटिंग दबाव को कम करने या अवरोधन में कमी महसूस करवाने हेतु एक विधि है।

उपरोक्त विशेषताओं के अलावा, किसी विशिष्ट शैली की कान की मशीन का चयन करने से पहले व्यक्ति को खुद की जीवन शैली पर भी विचार करना चाहिए। आम तौर पर एक गलत विकल्प के कारण उपयोगकर्ता कान की मशीन का उपयोग करने से कसमसाता है या नियमित रूप से उपकरण का प्रयोग नहीं करते है जिसके परिणामस्वरूप सुनने की समस्या में लाभ कम होता है।

कान की सबसे छोटी मशीन बहरेपन की समस्या से परेशान व्यक्तियों के लिए एक अद्भुत नवीन उपकरण है। हमारे द्वारा दी गई उपरोक्त जानकारी आपको अपनी स्थिति का विश्लेषण करने में सहयोग करेगी। सबसे अच्छी कान की मशीन का चयन करने के लिए अपने ऑडियोलॉजिस्ट के साथ अपनी आवश्यकताओं पर चर्चा करें।

2 thoughts on “कान की सबसे छोटी मशीन के पक्ष और विपक्ष”

Leave a Comment