कान मशीन में नवीनतम तकनीक के बारे में जानिए

आजकल की कान मशीन में नवीनतम तकनीक भविष्य की एक काल्पनिक विज्ञान फिल्म की तरह है। आपकी मशीन आपके हृदय गति और रक्तचाप की जाँच करती रहेगी और यदि आप अस्वस्थ हैं या दुर्भाग्य से अचानक गिर जाते हैं तो कान मशीन आपके डॉक्टर या करीबी रिश्तेदार को एस एम एस (SMS) भी भेजेगी।

कुछ साल पहले उपलब्ध कान की मशीनों की तुलना में नई डिजिटल कान मशीन में नवीनतम तकनीक बहुत उपयोगी है। पहले उपलब्ध कान की मशीन में उपयोगकर्ताओं के पास बहुत कम समायोजन सुविधाएं थीं। इन सीमित समायोजन सुविधाएं के कारान कान की मशीन अलोकप्रिय थी और लोग उनका उपयोग करने के लिए अनिच्छुक थे। इस लेख में हम आपको कान मशीन में नवीनतम तकनीक से परिचित कराते हैं और वह उपयोगकर्ताओं को कैसे लाभ पहुंचाते हैं।

कान मशीन में नवीनतम तकनीक क्या है?

इस लेख में, हम कुछ कान मशीन में नवीनतम तकनीकों पर चर्चा करेंगे, जिससे मशीन उपयोगकर्ताओं के सुनने की गुणवत्ता और आराम में सुधार करके सुनने के अनुभव में बड़ा बदलाव लाया है।

  • ब्लूटूथ कान की मशीन (Bluetooth hearing aids)
  • ए आई कान की मशीन (AI hearing aids or Artificial Intelligence)
  • रिचार्जेबल कान की मशीन (Rechargeable hearing aids)
  • कान की मशीन ऐप्स (Hearing aid Apps)

ब्लूटूथ कान की मशीन क्या हैं?

यदि डिजिटल कान की मशीन में ब्लूटूथ का प्रावधान है तो इसे ब्लूटूथ कान की मशीन कहा जाता है।

ब्लूटूथ एक संचार तकनीक है जो दो उपकरणों को वायरलेस (बिना तार) से जोड़ती है। दोनों उपकरण एक-दूसरे से दस मीटर या 33 फुट के दायरे में होने चाहिए। ब्लूटूथ से जुड़े दो उपकरणों के बीच संचार किया जा सकता है।

ब्लूटूथ कान की मशीन उपयोगकर्ता की कैसे मदद करते हैं?

मोबाइल फोन की लोकप्रियता बढ़ रही है और तार वाले फोन का इस्तेमाल कम हो रहा है। इस बदलते चलन ने कान की मशीन के उपयोगकर्ताओं के लिए एक समस्या खड़ी कर दी है।

डिजिटल कान की मशीन तार वाले फोन की बातचीत को पकड़ सकती थी लेकिन मोबाइल फोन के दूसरे छोर पर बोलने वाले व्यक्ति की आवाज नहीं पकड़ पाती है।

मोबाइल फोन को कान मशीन के पास ले जाने पर मशीन गुनगुनाने लगती है। ब्लूटूथ कान की मशीन ने इस समस्या को हल कर दिया और कान की मशीन उपयोगकर्ता बिना किसी बाहरी शोर के मोबाइल फोन पर आराम से बातचीत कर सकते थे।

ब्लूटूथ कान की मशीन कैसे काम करती हैं?

हमें उन दो उपकरणों को बिना तार के ब्लूटूथ तकनीक से जोड़ना होगा जिन्हें हम उपयोग करना चाहते हैं। इस प्रक्रिया को “पैरिंग” (pairing) कहा जाता है।
हम ब्लूटूथ कान की मशीन को किसी भी स्मार्टफोन या म्यूजिक प्लेयर से जोड़ सकते हैं जिसमें ब्लूटूथ की सुविधा हो।

ब्लूटूथ कान की मशीन स्मार्टफोन के साथ पेयरिंग blog image
ब्लूटूथ कान की मशीन स्मार्टफोन के साथ पेयरिंग

ब्लूटूथ कान की मशीन को स्मार्ट फोन के साथ कैसे जोड़े ?

ब्लूटूथ कान की मशीन को स्मार्ट फोन के साथ जोड़ने या “पैरिंग” की प्रक्रिया बहुत सरल है।

  • अपने कान की मशीन और अपने स्मार्टफोन के ब्लूटूथ बटन को चालू करें।
  • स्मार्टफोन अपने दायरे या रेंज में ब्लूटूथ उपकरण की खोज करेगा और उपकरण के नाम प्रदर्शित करेगा।
  • स्मार्टफोन अपने दायरे में सभी ब्लूटूथ उपकरणों के नाम प्रदर्शित करेगा। आप जिसे चाहते हैं उसे चुनें।
  • जब आप अपने मोबाइल फोन पर कॉल प्राप्त करते हैं, तो आपको अपने स्मार्टफोन स्क्रीन पर विकल्प दिखेगें, ब्लूटूथ चुनें, और आवाज आपकी कान की मशीन में प्रवाहित हो जाएगी।

फोन को अपने कान की मशीन के पास ले जाने की कोई आवश्यकता नहीं है। आवाज बिना किसी बाहरी शोर के स्पष्ट सुनाई देगी।
ब्लूटूथ संचार तकनीक स्मार्टफोन तक ही सीमित नहीं है, आप किसी भी दो उपकरणों को जोड़ सकते हैं जिसमें ब्लूटूथ विकल्प हो।
संगीत प्रेमी अपनी पसंदीदा धुनों को सुन सकते हैं क्योंकि अधिकांश संगीत उपकरण जैसे कि iPod या MP3 प्लेयर में ब्लूटूथ सुविधा होती है।

कुछ कान की मशीन कंपनियां स्ट्रीमिंग डिवाइस (streaming devices) बनाती हैं, यह उपकरण टेलीविजन से जुड़ते है और कान मशीन को ध्वनि भेजते है। इससे टीवी की ध्वनि को बढ़ाने और कमरे में सभी को परेशान करने की समस्या खत्म हो जाती है।

अपने ब्लूटूथ कान की मशीन को अपने लैपटॉप से कनेक्ट करें और ज़ूम और ऑनलाइन वेब मीटिंग में भाग लें।

आज-कल ब्लूटूथ कान की मशीन बहुत लोकप्रिय हैं और एक किफायती मूल्य पर उपलब्ध हैं।

ब्लूटूथ कान की मशीन संचार उपकरण विकल्प blog image
ब्लूटूथ कान की मशीन संचार उपकरण विकल्प

AI कान की मशीन क्या है?

जब कोई मशीन या उपकरण बुद्धिमान निर्णय लेता है या कार्यों को करने के लिए मानव सोच की नकल करता है तो इसे एआई (AI) या आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (artificial intelligence) कहते हैं।

यह तकनीक अब कान की मशीन में उपलब्ध है। AI कान की मशीन को स्मार्ट कान की मशीन (smart hearing aid) या आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस कान की मशीन के रूप में भी जाना जाता है। यह सुविधा कान मशीन में नवीनतम तकनीक है, अब ये कान मशीन इंटरनेट से भी जुड़ सकते हैं।

AI कान की मशीन के क्या लाभ हैं?

चूंकि AI कान की मशीन एक इंसान की तरह सोचती है, यह स्वचालित रूप से उन कार्यों को अपने आप करती है जो आम तौर पर उपयोगकर्ता अपने हाथों से करता है।

एक बड़ी समस्या जिसका सामना सभी कान की मशीन उपयोगकर्ता करते हैं कि वह शोरगुल वाले वातावरण में या लोगों के समूह के बीच किसी एक बोलने वाले को स्पष्ट रूप से नहीं समझ पाते है। कान मशीन उपयोगकर्ता को उस आवाज को पकड़ने के लिए परिश्रम करना पड़ता है।

AI कान की मशीन इस समस्या को काफी हद तक हल करती है। कान की मशीन द्वारा पकड़ी गई ध्वनि का विश्लेषण मशीन के अंदर एक कंप्यूटर सर्किट द्वारा किया जाता है। यह महत्वपूर्ण भाषण को निर्धारित करता है और बढ़ाता है और अवांछित ध्वनियों को दबाता है। यह कान की मशीन की विशेषता उपयोगकर्ता को सुनने में मदद करती है।

AI कान की मशीन उपयोगकर्ता के सुनने के तरीके पर डेटा एकत्र और संग्रहीत करता है। यदि उपयोगकर्ता एक शांत कमरे से निकल कर शोरगुल वाली सड़क पर जाता है तो AI कान की मशीन स्वचालित रूप से नई स्थिति के अनुसार सेटिंग्स को बदल देगा।
यदि आप टेलीविजन देखते हैं, तो AI कान की मशीन स्वचालित रूप से मशीन की ध्वनि की मात्रा को बढ़ा देगा ताकि आप अच्छी तरह से सुन सकें। यदि आप किसी पुरुष या महिला से बात कर रहे हैं, तो कान की मशीन भाषण को बढ़ाने के लिए स्वचालित रूप से आवृत्ति में सुधार करेगी।

AI कान की मशीन आपके जीवनसाथी या जिस व्यक्ति से आप सबसे अधिक बात करते हैं, उसकी आवाज़ को ध्यान में रखता है, यदि समूह में कई लोग बात कर रहे हैं तो यह इस विशेष आवाज़ को प्राथमिकता देगा और बढ़ा देगा।

AI कान की मशीन अब आपके स्वास्थ्य मापदंडों का भी ध्यान रखती है। कोई गंभीर स्वास्थ्य स्तिथि या घटना होने पर मशीन एक पूर्व-चयनित संपर्क नंबर पर चेतावनी संदेश (SMS) भेज सकती है।

अकेले रहने वाले बुजुर्गों के लिए फॉल डिटेक्शन (fall detection) एक उपयोगी विशेषता है। अगर मशीन उपयोगकर्ता अचानक गिर जाता है तो मशीन पूर्व-चयनित संपर्क नंबर पर मदद के लिए एक संदेश स्वचालित रूप से भेज सकती है।

कान की मशीन इंटरनेट से जुड़े अन्य उपकरणों से संचार कर सकती है। आपको अगर कोई मोबाइल अप्प का संदेश या ईमेल प्राप्त होती है तो मशीन आपको सूचित करती है।

रिचार्जेबल कान की मशीन

कान की मशीन की बैटरियां मशीन का एक महत्वपूर्ण उपसाधक हैं। अधिकांश कान की मशीन उपयोगकर्ता एक बार उपयोग होने वाली बैटरी खरीदते हैं। ये बैटरियां असुविधाजनक होती हैं क्योंकि इन्हें नियमित रूप से बदलना पड़ता है।

क्या यह संभव है कि हम बैटरी को केवल एक बार डाल दें और फिर कुछ वर्षों तक इसके बारे में न सोचें? हाँ, यह अब संभव है। रिचार्जेबल कान की मशीन एक पसंदीदा विकल्प है।

आइए जानें कि एक बार उपयोग होने वाली बैटरी के नकारात्मक पहलू और उपयोगकर्ता रिचार्जेबल कान की मशीन को क्यों पसंद करते हैं।

  • अस्थिर हाथों वाले बुजुर्गों के लिए कान की मशीन के दराज में बैटरी डालना मुश्किल होता है। उन्हें बैटरी डालने/निकालने के लिए दूसरों पर निर्भर रहना पड़ता है।
  • क्योंकि बैटरी का आकार छोटा होता है, कई बार बैटरी नीचे गिर जाती है और ज्यादातर इसे फर्नीचर के नीचे ढूंढना मुश्किल होता है। उपयोगकर्ता को एक नई बैटरी डालनी पड़ती है। रिचार्जेबल कान की मशीन की बैटरी को बाहर निकालने की जरूरत नहीं पड़ती।
  • नवीनतम कान की डिजिटल मशीन में ब्लूटूथ (Bluetooth) और ऑडियो स्ट्रीमिंग (Audio streaming) जैसी सुविधाएं हैं। यदि इन सुविधाओं का नियमित रूप से उपयोग किया जाये तो बैटरी की खपत बढ़ जाती है। उपयोगकर्ता को बार-बार बैटरी बदलनी पड़ती है। अधिक जानकारी के लिए हमारा लेख उन्नत कान की मशीन की उपयोगी विशेषताएं पढ़ें।
  • उपयोगकर्ता को अपने साथ अतिरिक्त बैटरी रखनी पड़ती है। कान की मशीन के उपयोग के अनुसार बैटरी की खपत बढ़ सकती है, बैटरी की सही खपत का अनुमान लगाना मुश्किल है और बैटरी कभी भी खत्म हो सकती है।
  • साधारण जिंक-एयर बैटरियों (zinc-air battery) पर रंगीन प्लास्टिक का स्टिकर लगा होता है। स्टिकर यह सुनिश्चित करने के लिए लगाया जाता है कि बैटरी की शक्ति कम न हो। स्टिकर हटाते ही बैटरी काम करना शुरू कर देती है, यदि स्टिकर गलती से हटा दिया जाता है तो बैटरी मशीन में न डालने पर भी काम करना शुरू कर देती है।
  • कान की मशीन उपयोगकर्ताओं को बैटरी खरीदने के लिए दुकान में बार-बार चक्कर लगाने पड़ते हैं। अकेले रहने वाले बुजुर्गों के लिए यह एक बड़ी असुविधा है।
  • इन बैटरियों को उपयोग के बाद फेंकना पड़ता है, इन्हें पुनर्नवीनीकरण नहीं किया जा सकता है। बैटरी में मौजूद रसायन हमारे पर्यावरण के अनुकूल नहीं हैं।
  • बार-बार लागत एक अन्य कारक है। उदाहरण के तौर पर, छोटे आकार की 312 नंबर की बैटरी एक सप्ताह से भी कम समय तक चलती है, इसलिए उपयोगकर्ता को एक वर्ष में लगभग 52 बैटरी खरीदनी पड़ती है।
  • मशीन में डालने से पहले हमें बैटरी के सकारात्मक (Positive) और नकारात्मक (Negative) के बारे में जांचना होगा। अगर बैटरी को सही तरीके से कान मशीन में नहीं डाला जाये तो मशीन का बैटरी दराज टूट सकता है। ऐसे में कान की मशीन को मरम्मत के लिए भेजना होगा।

रिचार्जेबल कान की मशीन कितने समय तक चलते हैं?

रिचार्जेबल कान की मशीन की बैटरी पूर्ण चार्ज के बाद 24 घंटे से अधिक समय तक चलती है। यह मशीन के उपयोग पर भी निर्भर करता है, अगर मशीन का उपयोग ज्यादातर भाषण के लिए किया जाता है और ब्लूटूथ या स्ट्रीमिंग के लिए नहीं, तो यह अधिक समय तक चलती है।

मशीन कंपनियां इनका चार्जर बनाती हैं जिन्हें किसी भी बिजली के सॉकेट में या लैपटॉप के यूएसबी पोर्ट (USB port) में लगाया जा सकता है और कान की मशीन को चार्ज कर सकते हैं। अधिक जानने के लिए रिचार्जेबल कान की मशीन के फायदे और नुकसान पर हमारा ब्लॉग पढ़ें।

कोई अन्य उपयोगी कान मशीन में नवीनतम तकनीक?

डिजिटल कान की मशीन में निरंतर अनुसंधान और विकास हो रहा है और कंपनियां उपयोगकर्ता के अनुभव को बेहतर बनाने के लिए नवीनतम तकनीक पेश करती रहती हैं। आइए जानते हैं कुछ उपयोगी सुविधाएं के बारे में।

• ऑनलाइन कान की मशीन प्रोग्रामिंग
• स्व-फिटिंग कान की मशीन

इन सभी कार्यों को कान की मशीन के लिए एक मोबाइल ऐप (mobile app) का उपयोग करके किया जा सकता है।

ऑनलाइन कान की मशीन प्रोग्रामिंग क्या है?

ऑनलाइन कान की मशीन प्रोग्रामिंग, जिसे रिमोट कान मशीन प्रोग्रामिंग भी कहा जाता है। यह एक बहुत ही उपयोगी विशेषता है, कान की मशीन के निर्माता एक स्मार्टफोन ऐप प्रदान करते हैं।

यदि उपयोगकर्ता सेटिंग्स से संतुष्ट नहीं है तो वे अपने ऑडियोलॉजिस्ट से फोन पर संपर्क कर सकते हैं और समस्या की व्याख्या कर सकते हैं। आपका ऑडियोलॉजिस्ट कान की मशीन ऐप के माध्यम से ऑनलाइन कनेक्ट होगा और आपकी संतुष्टि के लिए कान की मशीन को रीप्रोग्राम (reprogram) करेगा। यह सुविधा उन लोगों के लिए बहुत उपयोगी है जो वृद्धावस्था के कारण बहुत सक्रिय नहीं हैं या ऑडियोलॉजिस्ट से दूर रहते हैं।

उपयोगकर्ता ऐप का उपयोग करके आवश्यकतानुसार सुर और ध्वनि स्तर में भी बदलाव कर सकता है। यह कान की मशीन के छोटे बटनों की तुलना में अधिक सुविधाजनक है।

स्व-फिटिंग कान की मशीन क्या है?

कान की मशीन में स्व-फिटिंग या सेल्फ-फिटिंग (self-fitting) एक नवीनतम तकनीक है। बोस कॉर्पोरेशन (Bose Corporation) अपनी सेल्फ-फिटिंग कान की मशीन के विपणन के लिए अमेरिका की FDA (Food and drug administration) की मंजूरी प्राप्त करने वाली पहली कंपनी है।

स साउंडकंट्रोल (Bose SoundControlTM) निम्नलिखित शर्तों पर बेचा जाता है:

• 18 साल से कम उम्र के लोगों के लिए नहीं है।
• केवल हल्के से मध्यम बहरापन के लिए।
• इसमें फोन कॉल प्राप्त करने या संगीत स्ट्रीम करने का विकल्प नहीं है।

कान की मशीन की इस श्रेणी को ओवर द काउंटर हियरिंग एड या ओटीसी (OTC hearing aid) कान की मशीन के रूप में जाना जाता है। गंभीर या गहन बहरेपन से पीड़ित लोगों के लिए इस प्रकार की कान की मशीन की अनुशंसा नहीं की जाती है। उनके लिए यह सलाह दी जाती है कि वे पूर्ण निदान और फिटिंग के लिए ऑडियोलॉजिस्ट के पास जाएँ।

शीघ्र निदान और कान की मशीन के उपयोग से बहरापन को रोका जा सकता है। वैज्ञानिक अध्ययन यह साबित करते हैं कि अनुपचारित बहरापन अवसाद और मनोभ्रंश की ओर ले जाता है। अनुपचारित हल्का बहरापन मनोभ्रंश की संभावना को दोगुना कर देता है और गंभीर बहरेपन के मामले में संभावना पांच गुना बढ़ जाती है।

कान मशीन का उपयोग करने में देरी न करें। कान मशीन में नवीनतम तकनीक इतनी सारी सुविधाएँ प्रदान करती है कि आप किसी भी स्थिति का सामना कर सकते हैं।

संदर्भ: John Hopkins Medicine

Leave a Comment