टिनिटस का सफल इलाज – एक नई दवा

कान में सीटी बजने से छुटकारा पाने के लिए हमारे पास अब तक टिनिटस का सफल इलाज या अनुमोदित दवा नहीं थी। कई दवा बनाने वाली कंपनियां इस समस्या पर खोज कर रही हैं और हमारे पास बहुत जल्द टिनिटस का सफल इलाज होगा। ओटोनॉमी नाम की एक अमेरिकी कंपनी ने कान में सनसनाहट की आवाज आने का इलाज ढूंढ लिया है।

टिनिटस का सफल इलाज क्या है?

टिनिटस उपचार की दवा का नाम ओटो 313 (Oto 313) है। इस टिनिटस उपचार ने परीक्षण के दौरान आशाजनक परिणाम दिखाए हैं और यदि ऐसे ही परिणाम आते रहे तो हम जल्द ही Oto 313 का उपयोग करके कान में सनसनाहट की आवाज आने का इलाज कर सकेंगे और कान में झींगुर जैसी आवाज आना सदा के लिये बन्द हो जाएगा।

Oto 313 टिनिटस उपचार की दवा क्या है?

कान में सनसनाहट की आवाज आने के इलाज पर नवीनतम शोध के अनुसार, दवा बनाने वाली कंपनी ओटोनॉमी कान सनसनाहट की दवा Oto 313 के चरण 2 का परीक्षण कर रही है। यह कान सनसनाहट की दवा कर्णावर्त (कोक्लीअ) संबंधी टिनिटस के मामलों में काम करती है।

Oto-313 कैसे काम करता है?

Oto 313 गेसाइक्लिडीन दवा (Gacyclidine) का एक सूत्रीकरण (formulation) है। कंपनी के अनुसार, gacyclidine कोक्लीअ में तंत्रिका तंतुओं के अति-सक्रियण को कम करता है। सक्रियता में कमी होने से मध्यम से गंभीर टिनिटस तीव्रता से प्रभावित लोगों के कान में सनसनाहट कम हो जाती है।

Oto 313 इंजेक्शन कैसे दिया जाता है?

Oto 313 या गैसाइक्लिडीन दवा कान के अंदर इंजेक्शन द्वारा दी जाती है। इस प्रक्रिया को चिकित्सकीय रूप से इंट्राटेम्पेनिक इंजेक्शन (intratympanic) कहा जाता है। Oto 313 दवा को मध्य कान में टिम्पेनिक झिल्ली या कान के पर्दा में प्रवेश करके इंजेक्ट किया जाता है। ओटो 313 इंजेक्शन भीतरी कान में दवा की निरंतर आपूर्ति प्रदान करता है।

Oto 313 का परिणाम क्या हैं?

मध्यम से गंभीर एकतरफा टिनिटस से पीड़ित 153 रोगियों पर एक यादृच्छिक प्लेसबो-नियंत्रित (प्लेसबो-एक निष्क्रिय पदार्थ जो असली दवा की तरह दिखता है, और उसी तरह दिया जाता है) नैदानिक अध्ययन किया गया था।

मरीजों को एक 0.32 मिलीग्राम Oto 313 और प्लेसीबो को 1: 1 के अनुपात में इंट्राटेम्पेनिक इंजेक्शन दिया गया था। टिनिटस कार्यात्मक सूचकांक (Tinnitus functional index) में टिनिटस के दैनिक स्तर में वृद्धि या कमी और झुंझलाहट का स्तर देखा गया।

4 और 8 सप्ताह में 43% रोगिी जिन्हे Oto-313 दिया गया था उनमें 13-बिंदु सुधार देखा गया, जैसे टिनिटस की तीव्रता और झुंझलाहट में कमी। जबकि जिन्हे प्लेसबोस दिया गया था उनमें सिर्फ 13% सुधार देखा गया।

Oto-313 के दुष्परिणाम क्या हैं?

Oto-313 का इंजेक्शन अच्छी तरह से सहन किया गया था और Oto-313 प्राप्त करने वाले रोगियों में प्लेसबो की तुलना में प्रतिकूल घटनाएं कम थी।

ऐसी कोई प्रतिकूल घटना नहीं थी जिसके कारण दवा को रोकना आवश्यक था और कान के पर्दे में सुराख की बहुत कम घटना थी। अधिकांश प्रतिकूल घटनाएं कान या इंजेक्शन की जगह पर थीं जो हल्के से मध्यम तीव्रता की थीं और अध्ययन के अंत तक हल हो गई थीं।

टिनिटस का सफल इलाज Oto-313 कब से उपलब्ध होगा?

टिनिटस दवा Oto 313 का चरण 2 परीक्षण जारी है जिसमे दवा की मात्रा में वृद्धि की सुरक्षा और दोनों कानों के उपचार का परीक्षण होगा। शीर्ष-पंक्ति परिणाम 2022 के मध्य में अपेक्षित हैं।

2022 के मध्य में – Oto 313 चरण 2 नैदानिक परीक्षण के लिए शीर्ष-पंक्ति परिणामों की घोषणा की जाएगी।

2023 की पहली छमाही में – टिनिटस के लिए Oto 313 का चरण 3 नैदानिक कार्यक्रम शुरू होगा।
सफल परिणामों के आधार पर द्विपक्षीय टिनिटस और Oto 313 की उच्च खुराक (0.64 मिलीग्राम) के लिए अतिरिक्त गैर-नैदानिक परीक्षण और 1 महीने का सुरक्षा अध्ययन शुरू किया जा रहा है। परिणाम अगस्त 2022 के आसपास आने की उम्मीद है।

Otonomy कंपनी ने 2023 की पहली छमाही में चरण 3 नैदानिक कार्यक्रम शुरू करने की योजना बनाई है।

क्या Oto 313 सोमैटिक टिनिटस या दैहिक टिनिटस के लिए काम करता है?

टिनिटस दवा Oto-313 दैहिक टिनिटस के लिए नहीं है। दैहिक टिनिटस एक प्रकार का टिनिटस है जो आमतौर पर शारीरिक हलचल और स्पर्श से संबंधित होता है। यह कान या गर्दन के मांसपेशियों में ऐंठन से उत्पन्न हो सकता है।

टिनिटस का सफल इलाज Oto 313 कर्णावर्त से संबंधित टिनिटस के लिए उपयुक्त है। यह संवेदी बहरापन, कोक्लीअ को किसी भी प्रकार की चोट और कान के लिए विषाक्त दवाओं से जुड़े टिनिटस में प्रभावी है।

वर्तमान में टिनिटस के इलाज के लिए कोई अनुमोदित दवाएं नहीं हैं। कान में सनसनाहट कम करने के लिए विभिन्न टिनिटस नियंत्रण तकनीकों पर ध्यान देना चाहिए। पाठक टिनिटस नियंत्रण के लिए कान में सनसनाहट का इलाज के बारे में पढ़ सकते हैं।

टिनिटस से प्रभावित लोगों द्वारा पूछे जाने वाले कुछ सामान्य प्रश्नों के उत्तर नीचे दिए गए हैं।

कान में आवाज आना कौन सी बीमारी है?

टिनिटस कोई बीमारी नहीं है। यह एक लक्षण है जो हमें बताता है कि हमारे श्रवण तंत्र के किसी हिस्से में कुछ गड़बड़ है। यह समस्या हमारे कान में भी हो सकती है, श्रवण तंत्रिका जो आंतरिक कान को मस्तिष्क से जोड़ती है, और मस्तिष्क के उन हिस्सों में भी हो सकती है जो ध्वनि की प्रक्रिया करते हैं। अधिक जानकारी के लिए टिनिटस के लक्षण, कारण और इलाज के बारे में पढ़ें।

टिनिटस का क्या कारण बनता है?

टिनिटस के सामान्य कारण नीचे दिए गए हैं:
• बहरापन
• कान में संक्रमण
• कान नलिका में रुकावट
• सिर या गर्दन की चोटें
• एंटीबायोटिक दवाओं के कारण विषाक्तता (Ototoxicity)

टिनिटस के अन्य कारण हैं:
• मेनियार्स का रोग (Meniere’s disease)
• यूस्टेशियन ट्यूब में नुक्स (Eustachian Tube Dysfunction)
• कान की हड्डी में परिवर्तन
• भीतरी कान की मांसपेशियों में ऐंठन
• महिलाओं में हार्मोनल परिवर्तन
• टेम्पोरोमैंडिबुलर जोड़ (टीएमजे) विकार
• ध्वनिक न्यूरोमा (Acoustic Neuroma) या अन्य सिर और गर्दन के ट्यूमर
• रक्त वाहिका विकार
• अन्य पुरानी बीमारियां जैसे मधुमेह, गलग्रंथि की बीमारी, माइग्रेन सिरदर्द, रक्ताल्पता, और स्व-प्रतिरक्षित रोग टिनिटस का कारण बनते हैं।

टिनिटस का कोई इलाज क्यों नहीं है?

टिनिटस का कोई इलाज नहीं होने का महत्वपूर्ण कारण यह है कि यह एक लक्षण है, कोई बीमारी नही। टिनिटस किसी एक कारण से नहीं होता है और न ही यह किसी एक विशेष तरीके से होता है। लोग अलग-अलग तरीकों से टिनिटस अनुभव करते हैं और सनसनाहट का वर्णन करते हैं। टिनिटस कई मुद्दों के कारण हो सकता हैं, जैसे बहरापन, कान में संक्रमण, कानों में अतिरिक्त मैल आदि।

क्या टिनिटस का इलाज संभव है?

टिनिटस से प्रभावित हर व्यक्ति का अनुभव अलग है। अगर हम उस समस्या का इलाज करें जो टिनिटस का कारण बनता है तो हम इससे छुटकारा पा सकते हैं। यदि टिनिटस कान के मैल के कारण है तो मैल साफ करके समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है।

लेकिन अगर टिनिटस आंतरिक कान में दोष से है तो कान साफ़ करके आराम नहीं मिलेगा। ऐसी स्थिति में नई दवा Oto 313 टिनिटस का सफल इलाज हो सकता हैं। Oto 313 कोक्लीअ में तंत्रिका तंतुओं के अति-सक्रियण को कम करता है। सक्रियता में कमी से मध्यम से गंभीर टिनिटस तीव्रता से प्रभावित लोगों के कान में सनसनाहट कम हो जाती है।

References:
https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/34629442/
https://ichgcp.net/clinical-trials-registry/NCT04829214
https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC8584222/
https://clinicaltrials.gov/ct2/show/NCT04829214

Leave a Comment