कान से कम सुनाई देना? जानें इस समस्या का समाधान

1385

कल्पना कीजिए – कहीं छोटे बच्चों के खिलखिलाने की आवाज़ आ रही है, तो कहीं मधुर संगीत बज रहा है, कहीं हंसी-ठिठोली तो कहीं कविता पाठ हो रहा है। मगर आप इन सबकी आनंदमयी अनुभूति का अनुभव नहीं कर पा रहे हैं। कहीं ऐसा तो नहीं की बहरापन आपके जीवन में दस्तक दे चुका है? बहरापन एक गंभीर समस्या है जिससे कई लोगों के पीड़ित होने के बावजूद नज़रअंदाज़ किया जाता है। कान से कम सुनाई देना किसी के भी लिए बहुत तकलीफ का विषय है। अपने आपको कान की समस्या के बारे में जागरूक करें। यह आलेख आपके प्रश्नों का उत्तर देता है और आपको कारण पहचानने और सलाह लेने में मदद करेगा।

कान से कम सुनाई देना? जानें इस समस्या का समाधान Blog feature Image

क्या कान से कम सुनाई देना बहरेपन का लक्षण तो नहीं ?

कृपया सोचिए – क्या आपको कान से कम सुनाई देता है? क्या आपको कान से सुनने में समस्या है? और सोच रहे हैं कि आगे क्या करना है?

पश्चिमी देशों में, 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों में 10 में से 3 को बहरापन है। भारत में, अनुपात बहुत अधिक होगा क्योंकि हमारे शहरों में शोर प्रदूषण बहुत अधिक है।

आपको इन सरल उदाहरणों से यह पता करने में आसानी होगी कि क्या आपके कान से कम सुनाई देना बहरेपन की शुरुआत तो नहीं?

बहरेपन के सामान्य संकेतक

  • रोजमर्रा की बात-चीत सुनने में परेशानी होना
  • टीवी, रेडियो ऊँचे वाल्यूम में सुनना
  • फोन पर तेज़ आवाज में बात करना।
  • एक कान का प्रयोग ज्यादा करना।
  • कान में सीटी बजना

यह सभी कान से कम सुनाई देना दर्शाते हैं जो कम हो रही सुनने की क्षमता की ओर संकेत कर रहे हैं।

बहरेपन के सामान्य कारण क्या हैं?

  • वृद्धावस्था – ढलती उम्र के साथ कान से कम सुनाई देना, इस प्रकार के बहरेपन संवेदी या सेंसरोरियल बहरापन (Sensorineural Hearing Loss) के रूप में जाना जाता है।
  • अचानक हुई तेज़ आवाज़ से संपर्क में आना
  • अत्यधिक अथवा मध्यम तीव्रता के शोर से निरंतर संपर्क में रहना – शोर कोक्लीआ में संवेदनशील बाल कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाता है, जो आंतरिक कान का नाजुक हिस्सा है।
  • कान में संक्रमण
  • किसी एक कान से कम सुनाई देना
  • कान के दर्द से संबंधित बीमारी
  • कान की झिल्ली फटना
  • ज्यादातर मामलों में, बहरापन बहुत धीरे-धीरे बढ़ता है, यह पता लगाना मुश्किल है और आम तौर पर उपेक्षित है।

धीरे-धीरे बढ़ता बहरापन

धीरे-धीरे दोनों अथवा एक कान से कम सुनाई देना महसूस होता हो तो आप प्रारंभिक परीक्षण के लिए कान का डॉक्टर (ईएनटी या कान, नाक व गले का डॉक्टर) या अपने परिवारिक चिकित्सक को मिल सकते हैं। सुनिश्चित करें कि जब आप डॉक्टर से मुलाकात करते हैं तो आपने अपने सभी मेडिकल रिकॉर्ड रख लिए हैं।

यह भी जांचें कि आपका कान से कम सुनाई देना और अन्य कान की समस्याओं का पारिवारिक इतिहास है या नहीं। चिकित्सक आप की जांच करेगा और एक श्रवण परीक्षण (ऑडीमेट्री) कर सकता है। या, आपके बहरेपन की सीमा निर्धारित करने के परीक्षण के लिए डॉक्टर आपको सलाह देंगे कि आप किसी ऑडियोलॉजिस्ट से मिलें।

आकस्मिक बहरापन

इस स्थिति में अचानक ही कान से कम सुनाई देना  संभव है। जितनी जल्दी आप अपने अचानक सुनवाई हानि (Sudden Hearing Loss) के लिए डॉक्टर की मदद लेते है, उतनी जल्दी ही आपके इलाज सफल होने की संभावना होती है। अपने पास के अस्पताल के आपातकालीन वार्ड में जाएँ।

कान में कम सुनाई देने के मामले में किससे परामर्श करना चाहिये?

यह सुनिश्चित करने के लिए कि आपका संदेह सही हैं या नहीं, आपको ऑडियोलॉजिस्ट से मिलना चाहिए। आपको अपने दोस्तों, परिवार से ऑडियोलॉजिस्ट के बारे में पूछना चाहिए या इस साइट की हेल्पलाइन पर संपर्क करें। हम आपके इलाके में एक ऑडियोलॉजिस्ट को मिलवाने के लिए आपको मार्गदर्शित करेंगे।

ऑडियोलॉजिस्ट से मुलाकात

ऑडियोलॉजिस्ट से अपनी बहरेपन की व अन्य कान की समस्याओं पर चर्चा करें, उसे सभी संभावित जानकारी दें। यह ऑडियोलॉजिस्ट को आपकी विशिष्ट सुनने की आवश्यकताओं को समझने में मदद करेगा।

यदि आपका अगला कदम डिजिटल कान की मशीन का उपयोग है, तो अपनी दैनिक गतिविधियों पर चर्चा करें। आपकी जीवनशैली एक महत्वपूर्ण कारक है और आपकी प्राथमिक चिंता होनी चाहिए। आपकी जीवनशैली आपकी कान की मशीन के प्रकार का फैसला करेगा।

ऑडियोलॉजिस्ट विभिन्न उपलब्ध विकल्पों पर चर्चा करेगा। आपका ऑडियोलॉजिस्ट कान की मशीन के विभिन्न ब्रांड पेश करेगा। कान से कम सुनाई देना जैसी स्थिति में कान की मशीन काफी कारगार है।

नई कान की मशीन के परीक्षण के लिए टिप्स

ऑडियोलॉजिस्ट द्वारा कान की मशीन की फिटिंग blog image
ऑडियोलॉजिस्ट द्वारा कान की मशीन की फिटिंग।

आपको समझना चाहिए कि कान की मशीन एक बार में फिट नहीं बैठती है, इसकी कई बार सेटिंग या समायोजन करनी पड़ती है।

  • कुछ डिजिटल कान की मशीन को ट्राई करें, वह कान की मशीन चुनें जो सबसे अधिक आवाज स्पष्टता प्रदान करती है।
  • कुछ दिनों की “परीक्षण अवधि” के लिए अपने ऑडियोलॉजिस्ट से अनुरोध करें। रोजमर्रा की परिस्थितियों में कान की मशीन का प्रयास करें। प्रयास करने के बाद, आप अपनी जरूरतों के अनुरूप उनमें से एक मशीन चुन सकते हैं।
  • यह भी ध्यान दें कि कान से कम सुनाई देना पहले से कुछ बहतर हुआ या कोई अंतर नहीं महसूस होता।
  • पहली बार कान की मशीन पहनने की कोशिश करने की अपनी समस्याएं हैं। उपयोगकर्ता तेज सुनना शुरू कर देगा जो बहुत असहज हो सकता है। यह जरूरी नहीं है कि आप जिस पहले कान की मशीन का प्रयास करेंगे, वह आपको अनुकूल करेगा।
  • डिजिटल कान की मशीन में प्रोग्रामिंग या ट्यूनिंग सुविधा बहरेपन के अनुरूप होती है। आपको नई कान की मशीन के मुद्दों के बारे में ऑडियोलॉजिस्ट को प्रतिपुष्टि देना चाहिए। इससे उन्हें कान की मशीन की सेटिंग को बेहतर बनाने में मदद मिलेगी।
  • याद रखें कि कान की मशीन का उपयोग करने से आपकी सुनने की समस्या तुरंत हल नहीं होगी। धीरज रखें।

कान की मशीन सेटिंग्स के साथ हो रहे मुद्दे

जिस क्षण आप सामान्य परिवेश में जाते हैं, आप बहुत सारी नई आवाज़ें सुनेंगे। ये शोर यातायात, वाहनों का हॉर्न, निर्माण गतिविधि या लोगों की बातों का हो सकता हैं।

ये वे आवाज़ें थीं जो आपके लिए पहले मौजूद नहीं थीं। कान में कम सुनाई देने के कारण आप इन ध्वनियों को नहीं सुन पा रहे थे। आपके मस्तिष्क को नई आवाज़ों को समझने के लिए कुछ समय चाहिए। अपने नए कान की मशीन के साथ सहज महसूस करने में कुछ दिन लगते हैं।

अपने नए कान की मशीन को उपयोग करने के लिए टिप्स

आईटीसी या इन-कैनाल स्टाइल की कान की मशीन blog image
आईटीसी या इन-कैनाल स्टाइल की कान की मशीन।
  • एक शांत वातावरण में आराम से अपने घर के भीतर कान की मशीन का उपयोग करना जारी रखें। यदि आप असहज महसूस करते हैं, तो दिन में एक या दो घंटे का उपयोग करें। कुछ दिनों के बाद धीरे-धीरे उपयोग को उससे भी ज्यादा बढ़ाएं।
  • यदि आपको अभी भी सुनने में कठिनाई हो रही है और आप अभी भी आरामदायक महसूस नहीं कर रहे हैं, तो अपने ऑडियोलॉजिस्ट से मिलें। कान की मशीन को पुनः एडजस्ट करने के लिए अपने ऑडियोलॉजिस्ट से अनुरोध करें।
  • उच्च पृष्ठभूमि शोर जैसी सभी समस्याओं / मुद्दों पर ध्यान दें, फ़ोन की घंटी इत्यादि सुनने में असमर्थ आदि।
  • आपकी प्रतिक्रिया ऑडियोलॉजिस्ट को आपके कान की मशीन को बेहतर एडजस्ट करने में मदद करेगा। यह प्रक्रिया अंतर-सक्रिय है और आपको ऑडियोलॉजिस्ट के पास एक से अधिक बार जाना पड़ सकता है। इससे ऑडियोलॉजिस्ट को कान की मशीन को बेहतर तरीके से समायोजित करने में आसानी होगी। इससे आपको बेहतर सुनने में मदद मिलेगी और सुनने की समस्या घटेगी।
  • यदि बार-बार समायोजन काम नहीं करता हैं, तब आप एक अलग मॉडल या कंपनी के कान की मशीन परीक्षण के लिए अपने ऑडियोलॉजिस्ट से अनुरोध करें।

कान की मशीन का उपयोग करने के लाभ

  • कान में कम सुनाई देने के कारण हो रही परेशानी कम होगी।
  • आपकी जीवनशैली में सुधार होगा और सामाजिक बातचीत में वृद्धि होगी।
  • यह आपके कार्यस्थल पर दक्षता में भी सुधार करेगा।
  • मनुष्य जीवन के अनूठे पहलू, जैसे संगीत, का आनंद उठा पाएंगे।
  • आपको किसी पर निर्भर नहीं रहना पड़गा। आप स्वावलंबी जीवन जी सकेंगे।
मैं आपको सुन नहीं सकता blog image
मैं आपको सुन नहीं सकता

कान से कम सुनाई देना जैसी समस्या से घबराएँ नहीं। यदि आप कान में सुनने की समस्या को दूर करना चाहते हैं तो आपके बहरेपन की स्वीकृति महत्वपूर्ण है। जितनी जल्दी आप अपने बहरेपन को स्वीकार करते हैं और मदद लेते हैं, आप उतना ही खुश होंगे। कान की मशीन पहनने पर शर्मिंदा मत हो। “आप अपने कान की मशीन को छिपा सकते हैं, लेकिन आप बहरेपन को नहीं छिपा सकते।

कान की मशीन आपका जीवन सरल और सुंदर बनाएगी।

फोरम्स

आपकी समस्याओं के बारे में जवाब और सुझाव प्राप्त करने के लिए, ईयरगुरु फोरम में अपने प्रश्नों का उल्लेख करें। फ़ोरम में पंजीकरण करें, श्रेणी चुनें (जैसे- बहरापन, कान की मशीन भाषण थेरेपी, नौकरियां आदि)। फोरम में आपके प्रश्नों को विशेषज्ञों और उन लोगों से प्रतिक्रियाएँ मिलेंगी जो विषय के जानकार हैं।