प्रवाहकीय श्रवण हानि – लक्षण कारण और इलाज

प्रवाहकीय श्रवण हानि या कंडक्टिव श्रवण हानि दूसरा सबसे आम प्रकार का बहरापन है। अधिकांश लोग संवेदी बहरापन (Sensorineural deafness) से पीड़ित होते हैं। संवेदी बहरापन ज्यादातर बुजुर्गों को प्रभावित करता है लेकिन प्रवाहकीय श्रवण हानि सभी आयु के लोगों को प्रभावित करती है। ज्यादातर मामलों में प्रवाहकीय श्रवण हानि का दवाओं या आपरेशन से सफलतापूर्वक इलाज किया जा सकता है।

प्रवाहकीय श्रवण हानि क्या है?

हमारा कान तीन भागों में बंटा है। बाहरी कान, मध्य कान और आंतरिक कान। हमारे बाहरी कान तक पहुंचने वाले ध्वनि संकेत मध्य कान से गुजरते हुए आंतरिक कान तक पहुंचते हैं। इसे प्रवाहकीय श्रवण प्रक्रिया कहा जाता है।
यदि बाहरी या मध्य कान में श्रवण प्रवाहकीय प्रक्रिया में कोई बाधा है, तो ध्वनि तरंगें आंतरिक कान तक नहीं पहुंच पाती हैं और व्यक्ति ठीक से सुन नहीं पाता। इसे प्रवाहकीय श्रवण हानि कहते हैं।

प्रवाहकीय श्रवण हानि के लक्षण क्या हैं?

हमें नीचे दिए गए प्रवाहकीय श्रवण हानि के लक्षणों के बारे में पता होना चाहिए। चूंकि उपचार की सफलता लक्षणों को पहचानने और तत्काल चिकित्सा सहायता लेने पर निर्भर करती है।

  • दबी हुई आवाज या सुनने की क्षमता में कमी
  • सुनने की क्षमता में धीरे-धीरे कमी
  • कान में दर्द
  • चक्कर आना
  • कान बंद होना या कान में दबाव
कान की संरचना प्रवाहकीय श्रवण हानि blog image
कान की संरचना – प्रवाहकीय श्रवण हानि

प्रवाहकीय श्रवण हानि के कारण क्या हैं?

प्रवाहकीय बहरेपन के कुछ सामान्य कारण इस प्रकार हैं:

कान में मैल संचय

नियमित रूप से कान की सफाई न करने से कान का मैल कान नलिका में जमा हो जाता है। यह एक रुकावट का कारण बनता है, कान का मैल ध्वनि संकेतों को कान के पर्दे तक नहीं पहुंचने देता है।

बाहरी वस्तु द्वारा बाधा

कभी-कभी प्रवाहकीय बहरापन कान में छोटी-छोटी वस्तुओं के फंस जाने के कारण से भी हो सकता है। कभी-कभी अनजाने में बच्चा कान में छोटे-छोटे मोती या रुई के फाहे डाल देता है जिससे रुकावट हो जाती है।

कान में संक्रमण

कंडक्टिव श्रवण हानि बाहरी कान में संक्रमण (Otitis Externa) के कारण या भीतरी कान के संक्रमण (Otitis Media) से हो सकता है।

बाहरी कान की विकृति

यह आमतौर पर जन्म के समय होता है। पिन्ना (Pinna) या कान का मुलायम लचीला भाग पूरी तरह से नहीं बन पाता है या कान नलिका की विकृति है। एक ढह गई कान नलिका ध्वनि के प्रवाह को कम कर देती है।

कान की हड्डी का असामान्य आकार

कान नलिका में हड्डियों की असामान्य वृद्धि कान नलिका के आकार को कम कर देती है। कान की हड्डी की रुकावट के कारण मध्य कान में ध्वनि का प्रवाह कम हो जाता है।

कान के पर्दे में सुराख के कारण कंडक्टिव श्रवण हानि

कान का परदा या कान की झिल्ली (Tympanic membrane) कान द्वारा प्राप्त ध्वनि तरंगों के अनुसार कंपन करता है। यदि कान के पर्दे में सुराख है तो वह कंपन नहीं करेगा। यदि कान का परदा कंपन नहीं करता है तो वह ध्वनि को मध्य कान में स्थानांतरित नहीं कर पाएगा।

ओटोस्क्लेरोसिस के कारण प्रवाहकीय बहरापन

हमारे मध्य कान में तीन हड्डियाँ हैं, ये हड्डियाँ कंपन करती हैं और ध्वनि को भीतरी कान तक पहुँचाती हैं। ओटोस्क्लेरोसिस के कारण हड्डी के सख्त होने से कंपन कम हो जाता है। जिससे आवाज कम हो जाती है और ध्वनि को आंतरिक कान में स्थानांतरित करने की प्रक्रिया बाधित हो जाती है।

दुर्घटना के कारण कान में चोट

बाहरी या भीतरी कान को शारीरिक क्षति होने पर ध्वनि संकेत भीतरी कान तक नहीं पहुंच पाते हैं।

सौम्य ट्यूमर के कारण कंडक्टिव श्रवण हानि

ट्यूमर या फोडा बाहरी कान, मध्य कान या भीतरी कान में बढ़ सकता है। ये ट्यूमर ज्यादातर सौम्य या कैंसरमुक्त होते हैं। यह फोडा या पुटी कान नहर में बनते हैं और ध्वनि के प्रवाह को प्रतिबंधित करती है जिससे कंडक्टिव श्रवण हानि होती है।

यूस्टेशियन ट्यूब में समस्या

हमारी यूस्टेशियन ट्यूब मध्य कान में बनने वाले दबाव को संतुलित करती है। कान के संक्रमण के कारण यूस्टेशियन ट्यूब में सूजन हो जाती है या तरल पदार्थ जमा हो जाते है, यह दबाव को बराबर होने नहीं देते। यह परिपूर्णता की भावना देता है जो हमारी सुनने की क्षमता को कम करता है।

प्रवाहकीय श्रवण हानि का इलाज

अधिकांश मामलों में, प्रवाहकीय श्रवण हानि का इलाज किया जा सकता है। अगर आपको संदेह है कि आपको सुनने में समस्या हो रही है तो आपको डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। हालांकि प्रवाहकीय बहरापन का इलाज है पर उपेक्षा और देरी से स्थायी हानि हो सकती है।

कान में मैल संचय का इलाज

कान का मैल हमारे कानों को साफ रखने की प्रकृति की प्रणाली है। कान का गंधक बाहरी गंदगी को हमारे कानों में जाने से रोकता है, कान नलिका को चिकनाई देता है और मृत त्वचा को बाहर फेकता है। हालांकि कानों को नियमित रूप से साफ करने की आवश्यकता नहीं होती है, कुछ लोग अत्यधिक कान का मैल का उत्पादन करते हैं जिसके लिए सफाई की आवश्यकता होती है।

अधिक मैल के कारण कान नलिका में रुकावट से बचने के लिए अपने डॉक्टर से मिलें या कान के मैल को साफ करने के लिए घरेलू तरीकों का इस्तेमाल करें। कपास से बने कान की कलियाँ का इस्तेमाल न करें, कलियाँ गंधक को कान में गहराई तक धकेल सकती हैं।

किसी बाहरी वस्तु से कान में बाधा दूर करने का उपाय

यदि बच्चे खेलते समय कान में कुछ डालते हैं तो उन्हें तुरंत डॉक्टर के पास ले जाएं। वस्तु को हटाने के बाद सुनवाई बहाल हो जाती है। कभी-कभी, खराब गुणवत्ता वाली कपास की कलियाँ कान में रूई छोड़ देती हैं जिससे अस्थायी रूप से सुनने की क्षमता कम हो जाती है।

कान में संक्रमण के कारण प्रवाहकीय श्रवण हानि का इलाज

कान में संक्रमण के कारण प्रवाहकीय हानि होती है। कानों का गीला होना एक कारण है, नहाने के बाद या तैरने के बाद अपने कानों को सुखा लें। कान के संक्रमण को रोकने के तरीकों के बारे में पढ़ें।

कान की विकृति के लिए उपचार

कान पुनर्निर्माण ऑपरेशन-प्रवाहकीय श्रवण हानि का इलाज blog image
कान पुनर्निर्माण ऑपरेशन-प्रवाहकीय श्रवण हानि का इलाज

सर्जरी बाहरी कान की विकृति को ठीक कर सकती है। कान के लचीले भाग की अनुपस्थिति या अधूरा विकास जैसी असामान्यताओं को ठीक करने के लिए पुनर्निर्माण सर्जरी (Reconstruction surgery) संभव है।

कान के पर्दे में सुराख के कारण प्रवाहकीय श्रवण हानि का इलाज

हमारा कान का परदा या कान की झिल्ली एक पतला अर्ध-पारदर्शी परदा है जो ध्वनि तरंग के अनुसार कंपन करता है। यह ध्वनि को बाहरी कान से भीतरी कान तक पहुंचाता है। यदि यह झिल्ली फट जाती है या एक छिद्र विकसित होता है तो यह कंपन नहीं करेगा और ध्वनि का संचरण नहीं होगा।

टिम्पेनोप्लास्टी सर्जरी (Tympanoplasty) इस सुराख को ठीक कर सकता है। वेध को बंद करने के लिए डॉक्टर हमारे ऊतक का एक छोटा सा टुकड़ा लगाते हैं।

ओटोस्क्लेरोसिस के कारण प्रवाहकीय बहरेपन का इलाज

स्टेप्स हड्डी (मध्य कान की हड्डी) के आसपास असामान्य वृद्धि को ओटोस्क्लेरोसिस (Otosclerosis) कहते हैं। यह असामान्य वृद्धि स्टेप्स के कंपन और ध्वनि के संचालन को रोकता है। स्टेपेडेक्टोमी (stapedectomy) ऑपरेशन से हड्डी को कृत्रिम भाग से बदल दिया जाता है और व्यक्ति फिर से सुनने में सक्षम होता है।

सौम्य ट्यूमर के लिए उपचार

ज्यादातर कान के ट्यूमर सौम्य (कैंसरमुक्त) होते हैं, इन्हे ऑपरेशन द्वारा हटाया जा सकता है या विकिरण (Radiation) से नष्ट किया जा सकता है। ट्यूमर को हटाने के बाद सुनने की शक्ति बहाल हो जाती है। आंतरिक कान से मस्तिष्क तक जाने वाली तंत्रिका (कान की नस) पर धीमी गति से बढ़ने वाला कैंसरमुक्त ट्यूमर बहरापन के अलावा संतुलन और टिनिटस के मुद्दों का कारण बन सकता है।

यूस्टेशियन ट्यूब में समस्या के लिए उपचार

यूस्टेशियन ट्यूब में सूजन के कारण समस्या होती है। दवा लेने से समस्या का इलाज किया जा सकता है, अगर दवा काम नहीं करती है तो ऑपरेशन की आवश्यकता पड़ती है। कुछ सरल व्यायाम जैसे जम्हाई लेना, निगलना और चबाने की क्रिया भी नली को खोल सकते है।

यदि व्यायाम से मदद नहीं मिलती है, तो डॉक्टर डिकॉन्गेस्टेंट (Decongestant), एंटीबायोटिक्स (Antibiotics) या स्टेरॉयड (Steroids) की सलाह देंगे। सर्जरी की मदद से अतिरिक्त ऊतक को हटा दिया जाता है या दबाव को बराबर करने के लिए एक ट्यूब डाली जाती है।

कंडक्टिव श्रवण हानि के लिए बोन एंकरेड हियरिंग एड (BAHA)

कंडक्टिव श्रवण हानि के लिए बोन एंकरेड हियरिंग एड (BAHA) blog image
कंडक्टिव श्रवण हानि के लिए बोन एंकरेड हियरिंग एड (BAHA)

बोन एंकरेड हियरिंग एड या BAHA (Bone Anchored Hearing Aid) एक अलग प्रकार की कान की मशीन है जो हड्डी में लगाई जाती है। यह कान मशीन विशेष रूप से प्रवाहकीय बहरेपन के लिए है। BAHA को कान के पीछे की कठोर कर्णमूल हड्डी (Mastoid) में शल्य चिकित्सा द्वारा प्रत्यारोपित किया जाता है।

यह प्रत्यारोपण ध्वनि पकड़ता है, इसे संसाधित करता है और हमारी खोपड़ी के माध्यम से आंतरिक कान में स्थानांतरित करता है। ध्वनि बाहरी कान या मध्य कान से गुजरे बिना हमारे आंतरिक कान तक पहुंचती है।

प्रवाहकीय श्रवण हानि ज्यादातर मामलों में इलाज योग्य और प्रतिवर्ती है। हमें लक्षणों के बारे में पता होना चाहिए और समय पर चिकित्सा सहायता लेनी चाहिए।

https://www.enthealth.org/conditions/conductive-hearing-loss/
https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK262265/

Leave a Comment